Computer Software किसे कहते हैं और कितने प्रकार के होते हैं ?

Software Kya Hai : अगर आपने कभी कंप्यूटर का एग्जाम दिया होगा, तो आपसे कई बार पूछा गया होगा कि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है | What Is Software In Hindi | देखिए दोस्तों, यह तो हम सभी जानते हैं कि सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर कोई भी काम नहीं कर सकता | अगर आसान शब्दों में बताया जाए तो, यूजर अपनी कमांड कंप्यूटर में Installed सॉफ्टवेयर के द्वारा, कंप्यूटर के हार्डवेयर और मशीन तक पहुंचाता है | तो चलिए इस पोस्ट में हम जानेंगे कि Computer Software Kya Hai तो चलिए शुरू करते हैं |

Software Kya Hota Hai – What Is Software In Hindi?

सॉफ्टवेयर को ना ही देखा जा सकता है ना ही छुआ जा सकता है , पर यह ऐसा कंप्यूटर फंक्शन है जिसे सिर्फ समझा जा सकता है | अगर कहा जाए तो सॉफ्टवेयर कंप्यूटर की आत्मा है, बिना सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर पर कार्य करना असंभव सा है और साथ ही बिना सॉफ्टवेयर के हार्डवेयर का होना भी उतना ही व्यर्थ है जितना कि बिना फल के पेड़ को होना |

आप को समझाने के लिए बताया जाए तो, जिस वेब ब्राउज़र पर आप यह पोस्ट पढ़ रहे हैं, वह भी एक कंप्यूटर का सॉफ्टवेयर ही है |

Definition of Software In Hindi : सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का वह हिस्सा है, जिसके बिना कंप्यूटर पर कार्य नहीं किया जा सकता | यूजर, कंप्यूटर पर कोई भी कार्य करने के लिए कमांड, सॉफ्टवेयर द्वारा देता है | सॉफ्टवेयर उन निर्देशों को कंप्यूटर के  मदरबोर्ड और हार्डवेयर तक पहुंचाने का कार्य करता है |

Example Of Software :

  • MS Office Software i.e. MS Word, MS Excel, Etc.,
  • Adobe Reader,
  • Photoshop,
  • Coral Draw, Etc.

यह भी पढ़ें : Computer Hardware क्या है और कितने प्रकार के होते हैं

सॉफ्टवेयर के प्रकार – Types of Software in Hindi

यह तो हम सभी जानते हैं कि कंप्यूटर में कई तरह के काम किए जाते हैं, कई तरह के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल भी कंप्यूटर के द्वारा ही किया जाता है |

पर यह बहुत कम ही लोग जानते होंगे कि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के भी अलग-अलग प्रकार होते हैं | वैसे के लिए तो कंप्यूटर सॉफ्टवेयर को दो भागों में विभाजित किया गया है, जो है :

  1.  System Software
  2.  Application Software

तो चलिए जानते हैं System Software Kya Hai और Application Software Kya Hai :

What Is System Software In Hindi:

सिस्टम सॉफ्टवेयर है, वह सॉफ्टवेयर होते हैं, जो कंप्यूटर में आपको By Default मिलते हैं, मतलब की वह सॉफ्टवेयर जो कंप्यूटर हार्डवेयर को नियंत्रण करता है और कंप्यूटर  सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के कार्य को एक साथ करता है, उन्हें System Software कहा जाता है |

सिस्टम सॉफ्टवेयर में भी तीन तरह के सॉफ्टवेयर आते हैं, जो है :

1. Operating System : ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही कंप्यूटर का हर एक  कार्य किया जाता है, ऑपरेटिंग सिस्टम आपकी सभी English कमांड को Binary Language में बदल कर कंप्यूटर को समझाता है | ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा ही मानव और कंप्यूटर के बीच संबंध स्थापित हो पाता है |

Example Of Operating System : 

  • Linux
  • Android
  • Ubuntu
  • Window OS
  • Mac OS, Etc.

2. Utility Programs :  यूटिलिटी प्रोग्राम है, उन कंप्यूटर  सॉफ्टवेयर को कहा जाता है, जो कंप्यूटर को सुरक्षित रखने का कार्य करते हैं, मतलब की वह सॉफ्टवेयर जो कंप्यूटर को वायरस से सुरक्षित रखता है या  कहा जाए कि सुरक्षित रखने का कार्य करता है उन  सॉफ्टवेयर को Utility Programs कहा जाता है |

Example Of Utility Programs :

  • Antivirus
  • Disk Defragmenter
  • Quick Heal, etc.

3. Device Drivers :  Drivers बहुत ही अहम प्रोग्राम माना जाता है, क्योंकि यह सभी इनपुट और आउटपुट उपकरणों को कंप्यूटर से जोड़ने में मदद करता है, ताकि यह कंप्यूटर में सकुशल कार्य कर सकें |

Example Of Device Drivers :

  • Graphic Drivers,
  • Audio Drivers,
  • Motherboard Drivers, Etc.

What Is Application Software In Hindi:

आजकल आपने सुना होगा काफी लोग Applications को Apps कहते हैं, वैसे ही एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को भी Apps कहा जाता है | एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर वह सॉफ्टवेयर है, जो यूजर को सभी विशेष कार्य करने की अनुमति देता है, मतलब की एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर सीधा कंप्यूटर का यूजर से संबंध स्थापित करता है, इसीलिए इसे End User Software भी कहा जाता है |

 एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में दो प्रकार के होते हैं, जो है:

1. Basic Application : देखिए कंप्यूटर में सबसे पहले Basic एप्लीकेशन को जानना बहुत ही आवश्यक होता है, Basic एप्लीकेशन से तात्पर्य यह है कि वह एप्लीकेशन जो हमारे दिनचर्या में इस्तेमाल किए जाते हैं | Basic एप्लीकेशन को आज के समय में General Purpose Software भी कहते हैं |

Example of Basic Application:

  • Multimedia Programming
  • Spreadsheet Programs
  • Graphics Applications
  • Word Processing Programs, Etc.

2. Specialized Application :  जैसा कि आपको इस के नाम से ही पता चल रहा होगा, कि वह एप्लीकेशन जो विशेष कार्य करने के उद्देश्य से ही बनाई गई हैं, उन एप्लीकेशन को Specialized Application कहते हैं | जो कि सिर्फ Special Purpose के लिए ही इस्तेमाल किया जाता है, इसीलिए Specialized Application को  Special Purpose Software भी कहते हैं |

Example Of Specialized Application :

  • Billing Software
  • Accounting Software
  • Payroll Management System
  • Animations Software, Etc.

Software Kaise Banate Hai – How To Create Computer Program In Hindi

यह तो हम सभी जानते हैं कि आजकल लोग Software Development में बहुत ही ज्यादा दिलचस्पी ले रहे हैं, यानी कि लोग कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कैसे बनाते हैं | यह जानने की कोशिश करते हैं, लेकिन दोस्तों कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बनाने के लिए आपको Programming Language की पूरी तरह जानकारी होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बनाने के लिए बहुत सारे Programs का इस्तेमाल किया जाता है |

आपकी जानकारी के लिए बताना चाहती हूं, Programming Language सिर्फ एक Language नहीं है,  Programming Language में कई सारी Languages शामिल होती हैं जैसे कि C, C++, Java, Python, Etc. इन सभी Programs के Programming Coding को मिलाकर एक सॉफ्टवेयर बनाया जाता है |

देखिए दोस्तों जितना कि लोग समझते हैं, सॉफ्टवेयर बनाना बहुत ही आसान है, तो मैं आपकी जानकारी के लिए बताना चाहती हूं, एक सॉफ्टवेयर बनाना बहुत ही मुश्किल कार्य है, क्योंकि एक सॉफ्टवेयर बनाने के लिए Expert Programmer को भी कम से कम 6 महीने से 1 साल तक का वक्त लग जाता है | क्योंकि इसमें बहुत ही बारीकी से हर एक Coding को लगाया जाता है |

आपको तो पता ही होगा कि विश्व में काफी सारी ऐसी कंपनियां हैं जो कि  सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए Computer Programmer को Hire करती हैं | उन्हें Project देती है और साथ ही एक Time Limit देती है, जिस Time Period में उन्हें वह सॉफ्टवेयर तैयार करके देना होता है | Computer Programmer के लिए यह एक contract की तरह होता है और इसके लिए उन्हें एक अच्छा अमाउंट भी दिया जाता है |

यह भी पढ़ें : Gigabyte Gaming Motherboard B450 At Lowest Price

My Words

कभी आपने सोचा है कि बिना Apps के फोन का कोई अर्थ नहीं है, अगर मोबाइल में कोई Apps उपलब्ध ही नहीं होंगे, तो हम अपना कार्य मोबाइल से कैसे कर सकते हैं? उन Apps को ही मोबाइल सॉफ्टवेयर कहते हैं | मुझे उम्मीद है, आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा, अगर सॉफ्टवेयर से संबंधित आपको कोई भी प्रश्न पूछना हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं |

2 thoughts on “Computer Software किसे कहते हैं और कितने प्रकार के होते हैं ?”

Leave a Comment