Home » TALLY/GST » Rules Of E way Bill In Hindi | E way Bill Kya Hai In Hindi

Rules Of E way Bill In Hindi | E way Bill Kya Hai In Hindi

Rules Of E way Bill In Hindi : E-way Bill आज के समय में किसी भी ट्रांसपोर्ट Movement के लिए कितना जरूरी हो गया है हालाकी यह इंडिया की गवर्मेंट ने April 2018 में लागू किया था, पर आज भी कुछ लोग E-way Bill Generate करने में थोड़ी बहुत परेशानियां आती है, हम आपकी  उन्हीं सब परेशानी को दूर करने के लिए यह आर्टिकल लिखा है, आर्टिकल को आप पूरा पड़ेंगे, तो जानेंगे कि E way Bill Kya Hai | Rules Of E way Bill In Hindi | और E way Bill Generate Kaise Karte Hai ?


E way Bill Kya Hai – ई वे बिल बनाना है

चलिए पहले हम जानते हैं E way Bill क्या है ? अगर हम बात करें E way Bill Ki Full Form की, तो वह है Electronic Way Bill जो हमें माल सप्लाई करने में उपयोग में आता है, जिससे माल सप्लाई आसानी से किया जाता है..

ई वे बिल एक तरह का हमारा इलेक्ट्रॉनिक बिल है, जो किया जाता है सरकार ने यह किसी भी  माल की आवाजाही के लिए बनाया गया है, सरल शब्दों में आपको बताऊं तो, जिस भी माल की कीमत ₹ 50000 से या उससे अधिक है और उसे एक राज्य से दूसरे राज्य में भेजना है, तब हमें ई वे बिल जनरेट करने की जरूरत पड़ेगी, क्योंकि यह हमारी सप्लाई की ट्रांसपोर्टेशन को आसान बनाता है…


E way Bill Kab Lagu Hua

हालांकि आपको पता ही होगा कि E way Bill कब से लागू हुआ फिर भी मैं आपकी जानकारी के लिए बताना चाहती हूं, कि वे पूरे इंडिया में 1 अप्रैल 2018 को लागू हुआ था..


E way Ke Fayde – Benefits Of E way Bill

चलिए अब बात करते हैं ई E way Bill से होने वाले फायदों की

  • E way Bill Online Generate होने के कारण Transporter को E way Bill Number खो जाने का डर नहीं रहता, क्योंकि यह Online Generate हुआ है,
  • E way Bill Tax को चोरी होने को रोकने में भी बड़ी भूमिका निभाता है,
  • जो Supplier या कहे ट्रांसपोर्टर है, E way Bill होने की वजह से उनको किसी भी माल को एक राज्य से दूसरे राज्य की आवाजाही करने में अलग-अलग राज्यों की Transportation नियमों से नहीं गुजरना पड़ेगा,
  • E way Bill Online होने की वजह से, इसकी Check-Post Verification में भी कम ही समय लगता है,

देखिए यही कुछ फायदे हैं जो हमें E way Bill System के होने से मिलते हैं,


E way के नुकसान – Disadvantage Of E way Bill

 चलिए अब बात करते हैं E way बिल से होने वाले नुकसान की, हम सभी जानते हैं; जहां फायदे होते हैं वहां नुकसान भी साथ ही होते हैं आइए देखते हैं E way Bill System से होने वाले नुकसान..

सबसे बड़ा नुकसान हमारे लिए यही है कि Online बनता है India में अभी भी कई जगह ऐसी भी है; जहां इंटरनेट सुविधा कम है और कहीं तो इंटरनेट Slow चलता है; इंटरनेट Slow होने के कारण भी हम E way Bill Generate नहीं कर सकते,

 भाई, इंडिया है यहां कभी भी लाइट कट हो सकती है; लाइट ना होने की वजह से हम E way Bill Generate नहीं कर सकते,


GST Me E way Bill Kya Hai – What Is E way Bill In GST

GST System के अनुसार किसी भी माल, जिसकी कीमत ₹ 50000 या उससे ज्यादा होती है, उसके एक राज्य से दूसरे राज्य की आवाजाही के लिए ऑनलाइन तैयार किया जाता है यह सीधा हमारे GST Portal पर जाकर रजिस्टर हो जाता है और इसी ऑनलाइन बिल को हम E way Bill कहते है…

अब GST System आने से पहले भी किसी भी माल के आवाजाही पर टैक्स लगाया जाता था, जैसे कि Sales Tax और VAT, जो कि राज्य के नियमों के अनुसार लगाते थे, GST System आने के बाद सभी प्रकार के Transportation Taxes को सरकार ने एक E way Bill के रूप में जारी किया है..

E way Bill की वेरिफिकेशन के लिए GST Officer चेक करते हैं, कि ट्रांसपोर्ट किए गए माल पर GST Tax सही लगाया गया है या नहीं..


E way Bill Kab Banaya Jata Hai

 हम सभी जानते हैं कि E way Bill किन लोगों के लिए जरूरी होता है; या यह कहें कि किन परिस्थितियों में बनाना जरूरी होता है :

  • GST के तहत चाहे Supplier और Businessmen Registered Person हो या Unregistered हो; इन दोनों पदों में E-way Bill जरूरी है,
  • कोई भी माल जिसकी कीमत Rs. 50000 या उससे अधिक है और उसी माल को हम एक राज्य से दूसरे राज्य सप्लाई करना चाहते है; तो इस दौरान E-way Bill बनाने की आवश्यकता पड़ती है जो कि GST के बाद; ट्रांसपोर्टेशन के लिए जरूरी हो गया है,
  • अब जैसे वही माल हम अपने राज्य में ही एक जगह से दूसरी जगह move करते हैं कहे तो Intra-State में तब भी हम E way Bill की जरूरत पड़ सकती है अगर माल की कीमत Rs. 100000 या इससे अधिक है; इस स्थिति में भी हमें E way Bill जनरेट करना जरूरी होता है..
  • माल का सप्लाई करने वाले ट्रांसपोर्टर के लिए भी E way Bill जरूरी है; क्योंकि कोई भी चेकिंग के दौरान ट्रांसपोर्टर को E way Bill Permit दिखाना पड़ सकता है;
  • बिना किसी E way Bill के कोई भी Supplier या Transporter माल की आवाजाही नहीं कर सकता है,

E way Bill के नियम – Rules of E way Bill In Hindi

अगर हम बात करें E way Bill के नियमों की तो आपकी जानकारी के लिए मैं बताना चाहती हूं :

  • अगर Interstate Movement होती है माल या किसी भी Consignment की तो E way तब ही जनरेट करना होगा, जब हमारे माल की कीमत Rs. 50,000 या उससे अधिक होगी; अगर माल की कीमत Rs. 50000 से कम है तो उस अवस्था में हमें E way Bill बनाना जरूरी नहीं है…
  • और ऐसे ही बात करें Intrastate Movement की, जब हमारे माल की कीमत एक लाख या उससे अधिक होगी; तब ही हमें E way Generate करने की जरूरत पड़ेगी और vice-versa माल की कीमत ₹ 100000 कम होती है; तो उस अवस्था में हमें E way Bill जनरेट करने की जरूरत नहीं पड़ती,
  • ई वे बिल के नियमों के अनुसार सभी Registered Businessmen को अपना माल सप्लाई करने के लिए; ई वे बिल जनरेट करना अनिवार्य है और साथ ही; उनको माल के Invoice के साथ E way Bill Number या उसका Print Out देना भी जरूरी है; ताकि Consignment Movement में कोई परेशानी ना आए,

E way Bill KM limit

  • E way Bill में भी एक नियम आता है, जिसके बारे में शायद आपको पता हो कि | E way Bill KM Limit Rule | में यह लिखा है अगर माल की Movement राज्य के अंदर 10 KM या उससे कम किलोमीटर के लिए Movement होती है तो उस दौरान E way Bill पर Vehicle Number Mention करना जरूरी नहीं होता..
  • अब देखिए अगर कोई Supplier E way Bill जनरेट कर लेता है; पर किसी समस्या की वजह से वह Supplier अपना माल 24 घंटे के अंदर आगे नहीं भेज पाता है; तो उस केस में Supplier E way Bill Cancel भी कर सकता है..
  • यह तो हम जानते हैं E way Bill हमारे GST Portal के लिए में भी एक अहम भूमिका निभाता है, वैसे ही जिस माल पर GST नहीं लगता है या कहे 0% Tax या Tax Free माल हो तो उनकी Movement के लिए E way Bill Generate करना जरूरी नहीं है..
  • अब तक हमने जो भी बात की, माल के Supply करने की बात की, बात आती है Goods के Repairs की; आज भी कुछ ही लोग जानते हैं कि; Goods के Repairs ट्रांसपोर्टेशन में भी ई वे बिल बनाना जरूरी होता है; तो देखिए दोस्तों अगर आप माल (goods) को सिर्फ रिपेयर करने के लिए भेज रहे हैं; पर हमारे माल की कीमत से Rs. 50000 या उससे अधिक है; तो इस स्थिति में भी आपको E way Bill जनरेट करना जरूरी है पर किसी Job work की तरह..

Read Also : E way Bill Registration Kaise Kare 


Conclusion

तो यहाँ आज मैंने आपको बताया की E way Bill Kya Hai | Rules Of E way Bill In Hindi | और E way Bill को कैसे इस्तेमाल करते है, और साथ ही हमने इस पोस्ट में जाना की E way Bill से होने वाले फायदे और E way Bill से होने वाले नुकसान के बारे में, इसी के साथ इस पोस्ट में यह भी बताया गया है कि E way Bill क्यों जरूरी है और कहां-कहां E way Bill का इस्तेमाल होता है, अगर आपको ये जानकारी पसंद आयी हो आप हमारे ब्लॉग को फॉलो कर सकते है..

1 thought on “Rules Of E way Bill In Hindi | E way Bill Kya Hai In Hindi”

  1. Pingback: E-Invoice Kaise Banaye | E-Invoice Under GST Hindi 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *